एसईओ क्या है-What is SEO

यदि आप ब्लॉगर हैं या यूट्यूबर है तो SEO के बारे में अच्छी तरह से जानते होंगे और आपको यह आता भी होगा। लेकिन अगर आप इन दोनों में से किसी भी क्षेत्र के नहीं है तो हो सकता है, आपने SEO के बारे में ना सुना हो या आपको बहुत कम जानकारी हो। यदि आप ब्लॉगिंग करना चाहते हैं या एक यूट्यूबर बनना चाहते हैं तो आपको SEO आना बहुत जरूरी है।

क्योंकि इसके बिना आपकी मेहनत बेकार हो जाएगी। तो आज हम आपको इस पोस्ट में एसईओ के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

SEO-KYA-HAI

SEO का फुल फॉर्म होता है (SEARCH ENGINE OPTIMISATION) इसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट ,ब्लॉक और यूट्यूब चैनल पर हजारों-लाखों से भी ज्यादा ट्राफिक ला सकते हैं और अच्छी इनकम कर सकते हैं। आसान भाषा में कहें तो एसईओ ब्लॉगिंग की आत्मा होता है। जिस तरह आत्मा के बिना शरीर बेकार हो जाता है। उसी तरह एसईओ के बिना आपका ब्लॉक भी बेकार हो जाता है।

जब भी हम Google पर कोई चीज सर्च करते हैं तो हमारे सामने एक Page खुलकर आता है। उदाहरण के लिए मान लीजिए आपने सर्च किया कि “कोरोनावायरस क्या है”। तो गूगल की यह जिम्मेदारी बनती है कि वह आपको कोरोनावायरस के बारे में 100% सही जानकारी दे और गूगल ऐसा करता भी है। इसके लिए Google Algorithms 1 सेकेंड से भी कम समय में लाखों ऐसी वेबसाइट को चेक करते हैं।

जिनमें कोरोनावायरस के बारे में पूरी और सही जानकारी दी गई हो। इस तरह की 10 वेबसाइट को गूगल अपने पहले पेज पर दिखाता है और आप उनमें से किसी भी वेबसाइट पर Click करके जानकारी प्राप्त करते हैं।

SEO IMPORTANCE

आपके द्वारा सर्च किए जाने पर जो वेबसाइट पहले, दूसरे, तीसरे या चौथे नंबर पर आती है या गूगल के पहले पेज पर आती हैं। इनका SEO बहुत अच्छे से किया जाता है। तभी गूगल इनको सबसे पहले आपको दिखाता है। SEO के माध्यम से ही गूगल आपकी वेबसाइट और आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को अच्छे से समझ पाता है और तभी यह दूसरों तक पहुंचाता है।

यदि आपने अपने ब्लॉग का SEO सही से नहीं किया है तो गूगल आपके आर्टिकल को अपने Page पर शुरुआत में नहीं रखता या कई Pages के बाद रखता है। ऐसे में आपकी वेबसाइट और ब्लॉग पर बहुत कम लोग आएंगे जिससे आप को बहुत नुकसान हो सकता है।

यदि आपने एक अच्छा आर्टिकल अपने ब्लॉग में लिखा है और उसका SEO नहीं किया है तो यह मान लीजिए आप के द्वारा लिखा गया आर्टिकल से आपको कोई फायदा नहीं होने वाला। क्योंकि तब आपका आर्टिकल Search Engine गूगल द्वारा दिखाए गए कई सारे परिणामों में नहीं आएगा। जिससे आपके ब्लॉग पर भी कोई ट्रैफिक में नहीं होगा तो जाहिर सी बात है आप का आर्टिकल लिखना बेकार हुआ।

Google के पहले page पर आने के लिए SEO की भूमिका 

आप खुद सोचिए जब आप Google पर कुछ भी सर्च करते हैं तो आपके सामने जो पेज खुल कर आता है। उस पर कई सारी वेबसाइट या ब्लॉग होते हैं। जिनमें आपके द्वारा सर्च किए गए Keyword से जुड़ी हुई सभी जानकारी उपलब्ध होती है। लेकिन आप सभी वेबसाइट पर नहीं जाते और ना ही उस Result Page में नीचे जाकर देखते हैं।

आप ज्यादा से ज्यादा गूगल के द्वारा दिखाई गई पहले, दूसरे, तीसरे या चौथे वेबसाइट पर Click करते होंगे। आपकी तरह बाकी लोग भी यही करते हैं। इसलिए सभी ब्लॉगर अपने आर्टिकल को पहले नंबर पर लाने के लिए SEO करते हैं।

यदि आप एक अच्छा आर्टिकल लिखेंगे और उसका SEO भी बढ़िया करेंगे तो Google के द्वारा दिखाए गए परिणामों में आपके आर्टिकल के पहले नंबर पर आने के ज्यादा चांस होते हैं और फिर ट्रैफक भी अच्छा खासा आपके ब्लॉक पर आएगा, जिससे आपको फायदा होगा।

Seo करना क्यों जरूरी?

यदि आप कोई Article लिखते हैं। तो उसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर करते हैं पर उससे उतना ट्राफिक नहीं आ पाएगा। जितना SEO करने के बाद आपके ब्लॉक पर आएगा। जिसे Organic Traffic कहते हैं।

SEO के साथ-साथ आपको अपना आर्टिकल भी बहुत अच्छा लिखना है। यानी आपका आर्टिकल ऐसा होना चाहिए कि यदि कोई आपके ब्लॉग पर आये तो जो उसने सर्च किया है, उसके बारे में उसको पूरी जानकारी मिल जाए। इससे आपको फायदा यह होगा कि अगली बार भी वह आपके ही ब्लॉक पर आएगा और अन्य लोगों को भी आपके ब्लॉक के बारे में बताएगा। इससे आपकी Website या Blog पर ट्रैफिक अपने आप बढ़ने लगेगा।

SEO कितने प्रकार का SEO होता है?

मुख्य रूप से SEO दो प्रकार का होता है –

1. ON PAGE SEO
2. OFF PAGE SEO

ON-PAGE-SEO क्या है?

जिसमें हम अपनी वेबसाइट को SEO फ्रेंडली बनाते हैं। आसान भाषा में कहें तो आपके ब्लॉग या वेबसाइट का बैक एंड। जिसमें हम अपनी वेबसाइट या आर्टिकल को अच्छा दिखाने के लिए ऑप्टिमाइज करते हैं।

ON-PAGE के अंदर –

1.Website की स्पीड
2.Title tag
3.Keyword
4.Content
5.Heading
6.URL
7.ALT Tag
8.Title tag
9.Internal linking
10.Post description
11. Image optimization

इन सभी चीजों का उपयोग करके अपने कंटेंट और वेबसाइट को SEO फ्रेंडली बनाने की कोशिश करते हैं।

1. आपकी Website की speed गूगल के परिणाम में आने के लिए बहुत मायने रखती है। अगर आपकी वेबसाइट जल्दी नहीं खुलती है और बहुत टाइम लगाती हैं तो इससे आपके ब्लॉक यह वेबसाइट पर बुरा असर पड़ता है और अगली बार वह व्यक्ति आपके ब्लॉग पर नहीं आएगा और ऐसा कई बार होने पर गूगल आपके ब्लॉग को रिजल्ट पेज पर नहीं दिखाएगा। इसलिए वेबसाइट की स्पीड तेज होनी चाहिए।

2. Title tag इसमें 65 से कम word का उपयोग करें। क्योंकि गूगल में कोई भी टाइटल 65 वोट से ज्यादा होने पर दिखाई नहीं देता है। 65 word के अंदर ऐसा टाइटल टैग बनाएं जो आकर्षक हो।

3. अपने Article में Keyword का विशेष ध्यान रखें। Title में Keyword का उपयोग करें और शुरुआत के Article के अंदर भी एक दो बार उस Keyword का उपयोग करें। ध्यान रखें जो कीवर्ड अपने टारगेट किया है। उसका बहुत ज्यादा उपयोग ना करें। LSI Keywords का उपयोग करें और कुछ को बोल्ड भी कर दें।

4. Content के बारे में हमने आपको पहले ही बताया था की आप जितना अच्छा कंटेंट लिखेंगे उतना ही आपके लिए अच्छा होगा। अपने Content को कम से कम 700 Words का रखें और इससे जितना ज्यादा लिख पाए तो और भी अच्छा है।

5. Heading आपके आर्टिकल की जान होती है। इसको ऐसा बनाया कि जब भी कोई पढ़े तो उस पर क्लिक कर दे। इसलिए इसका विशेष ध्यान रखें। इसके बाद Sub-Heading जो आप अपने आर्टिकल में अंदर उपयोग करते हैं, उसे H2, H3, H4 में करें।

6. URL अपने आर्टिकल के यूआरएल पर भी विशेष ध्यान दें। इसे आप छोटा रखें और target keyword का भी उपयोग करें।

7. ALT TAG में target keyword का प्रयोग करें।

8. पोस्ट के टाइटल का भी विशेष ध्यान दें और इसमें modifiers का उपयोग करें जैसे “help full” , “best” “all information” आदि।

9. Internal linking का मतलब होता है जो पोस्ट आप पहले कर चुके हैं उसका URL जो पोस्ट आप लिख रहे हैं उसमें देना। इससे आपकी पोस्ट गूगल में रैंक होने के चांसेज बढ़ जाते हैं।

10. Post description जो पोस्ट आपने लिखी है। जब वह गूगल में या किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दिखाई देती है तो आपकी पोस्ट के लगभग 50 से 60 Word दिखाई देते हैं, जिसे Post description कहते हैं। इसके साथ ही word और Heading भी दिखाई देती है।

11. Image optimization में इमेज को Rename करके target keyword को डाल दें। इसके साथ ही इमेज का size ज्यादा बढ़ा ना हो इस बात का भी ध्यान रखें।

2.OFF-PAGE-SEO

जब आप ON PAGE SEO कर लेते हैं उसके बाद 2.OFF PAGE SEO आता है। जिसमें हम अपने Article को Google में Rank कराने के लिए उसके Link का प्रमोशन करते हैं। ये ऑन पेज एसईओ से काफी आसान होता है।

इसका सबसे अच्छा तरीका है, Backlink। यानी किसी मशहूर वेबसाइट या ब्लॉग पर जाकर अपने आर्टिकल के URL को सबमिट करना और कमेंट करना। इसके साथ ही Guest post submit करना। जिससे उन बड़ी वेबसाइट पर आने वाले लोग आपके Blog या Website के बारे में जान सकें।

इसके अलावा दूसरा तरीका है Social Media Platforms पर अपने Article को शेयर करना या उन पर एक बढ़िया सा Page बनाकर अपने हर आर्टिकल को Post करना।

OFF-PAGE-SEO-TECHNIQUE

1. SEARCH ENGINE SUBMISSION
2. DIRECTORY SUBMISSION
3. CLASSIFIED SUBMISSION
4. BOOKMARKING
5. SOCIAL MEDIA
6. GUEST POSTING
7. FORUM POSTING
8. QUESTION AUR ANSWER WEBSITE

1. SEARCH ENGINE SUBMISSION में आपको कई तरह के सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट को सबमिट करना चाहिए। जैसे Google, Bing, Yahoo, Baidu, Yandex,DuckDuckGo आदि।

2. DIRECTORY SUBMISSION में आपको वेबसाइट या ब्लॉग को डायरेक्टरी में सबमिट करना चाहिए जिनका PR ज्यादा हो।

3. CLASSIFIED SUBMISSION में आपको अपनी वेबसाइट का प्रचार करना होता है, free classified वेबसाइट पर।

4.BOOKMARKING मेंमे आपको अपने Blog या Website के Pages और Post को बुक मार्किंग वाली वेबसाइट reddit, digg, LinkedIn, Pinterest, digo आदि कई पर submit करना होता है।

5. SOCIAL MEDIA पर प्रोफाइल बनाना और अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक शेयर करना।

6. GUEST POSTING आप उन वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं जो वेबसाइट या ब्लॉग आप से रिलेटेड हो।

7. FORUM POSTING से आप अपनी रैंकिंग को बढ़ा सकते हैं।

8. QUESTION AUR ANSWER वाली वेबसाइट पर आप जाकर आप, सवाल कर सकते हैं या पूछे गए सवालों का जवाब दे सकते हैं।

LOCAL-SEO

यदि आपका छोटा बिजनेस है या कोई Shop है। जिसके लिए आप वेबसाइट बनाना चाहते हैं और अपने लोकल एरिया को कवर करना चाहते हैं। तो उसके लिए आप अपनी वेबसाइट को उसी के अनुसार seo optimisation कर सकते हैं।

इसके लिए आपको अपने address details और शहर के नाम आदि को optimise करना होगा। इससे आप लोकल एरिया को टारगेट कर सकते हैं और लोग आपसे ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी जुड़ सकेंगे। इससे आपका दोनों तरह से फायदा होगा।

SEO-TECHNIQUE

1.WHITE HAT SEO
2.BLACK HAT SEO

चाँद के बाद चीन ने बनाया सूरज,असली सूरज से ज्यादा ऊर्जा करेगा उत्पन्न

WHITE HAT SEO मैं नेचुरल तरीके से वेबसाइट को रैंक लाने की कोशिश की जाती है जो कि सही तरीका है। जैसे लिंक बिल्डिंग करके वेबसाइट को सर्च इंजन में रैंक कराना। साधारण भाषा में कहें तो सर्च इंजन के रूल्स को फॉलो करके वेबसाइट और ब्लॉग का SEO करना।

WHITE-HAT-SEO करने के तरीके

QUALITY BACKLINK AUR LINK BUILDING
KEYWORD USED
QUALITY CONTENT
WEBSITE SPEED
BEAUTIFUL WEBSITE
KEYWORD DENSITY
TITLE OR META DESCRIPTION

BLACK-HAT-SEO

BLACK HAT SEO करके वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन में कम समय में रैंक कराया जा सकता है। जो लोग नई वेबसाइट या नए ब्लॉगर होते हैं। वे सर्च इंजन में रैंक करने के लिए BLACK HAT SEO करते हैं। जो कि गूगल के नियमों के खिलाफ है।

इसे करके आप सर्च इंजन में रैंक तो हो सकते हैं पर ज्यादा दिन तक टिक नहीं सकते। क्योंकि गूगल इस तरह की वेबसाइट और ब्लॉग को बिल्कुल भी सजेस्ट नहीं करता और ब्लॉक कर देता है।

जो लोग BLACK HAT SEO करते हैं, वह नीचे दिए गए तरीके को अपनाते हैं। जो कि बिल्कुल सही नहीं है यदि आप भी एक ब्लॉगर बनना चाहते हैं या आपकी वेबसाइट है तो आप नीचे दिए गए तरीकों का उपयोग ना करें।

1. DUPLICATE CONTENT
2. KEYWORD STUFFING
3. INVISIBLE KEYWORD
4. UNDER THE RELATED META DESCRIPTION
5. DOORWAY AND GATEWAY POST

आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि SEO क्या है और कैसे किया जाता है। इसके साथ ही हमने आपको जानकारी दी कि SEO कितने प्रकार का होता है। SEO करने के फायदे क्या है और यह कितनी तरह से किया जा सकता है। हमने आपको आज on page SEO और off page SEO के साथ SEO techniques, white hat SEO व Black hat SEO के बारे में जानकारी दी है। यदि इसके बाद भी आपके मन में कोई सवाल एसईओ के बारे में है तो आप बिना संकोच के कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं। हम आपके कमेंट का अवश्य जवाब देंगे।

ये जरुरी पोस्ट भी पढ़ें 

Signal App की ऐसी क्या है खासियत जो लोगों को कर रही उपयोग करने पर मजबूर

Image optimize करने के सही तरीके-Step by Step

SERP का फुल फॉर्म और फुल जानकारी

Akki

Hello friends my name is Akash Kumar. I am the founder of this blog. I am interested in reading and teaching people about technology and blogging. My objective is that I can provide you the best information. So that you too have complete knowledge about new technology and blogging.If you have any questions in your mind, you can ask us without hesitation. We will try to answer your question as soon as possible. ================================== नमस्कार दोस्तों मेरा नाम आकाश कुमार है। मै इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ। मुझे प्रौद्योगिकी और ब्लॉगिंग के बारे में पढ़ना और लोगों को सिखाने में रुचि है। मेरा मकसद है की मै आपको अच्छी से अच्छी जानकारी उपलब्ध करा सकूँ। जिससे आपको भी नयी प्रौद्योगिकी और ब्लॉगिंग के बारे में पूरी जानकारी हो। यदि आपके मन में कोई सवाल हो तो आप हमसे बिना संकोच करे पूछ सकते है। हम जल्द से जल्द आपके सवाल का जवाब देने का प्रयास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *